मुंबई : ठाकरे सरकार के खिलाफ बीजेपी ने किया राज्यव्यापी आंदोलन, सोशल मीडिया पर दिखा असर

मुंबई : बीजेपी ने ठाकरे सरकार के खिलाफ राज्यव्यापी आंदोलन किया, लेकिन यह आंदोलन सोशल मीडिया पर ज्यादा प्रभारी रहा। ट्विटर पर बीजेपी के ‘महाराष्ट्र बचाओ’ के मुकाबले महाविकास अघाडी के ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’ को ज्यादा ट्विट मिले। इससे भाजपा की परेशानी जरूर बढ़ गई।

सरकार पर फेल होने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को बीजेपी ने 'मेरा आंगन, मेरा रणांगण' (मेरा घर, मेरा युद्ध) के नारे के साथ राज्यभर में आंदोलन किया। बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने अपने घर और पार्टी कार्यालय के सामने मुंह पर मास्क लगाकर काले कपड़े में आंदोलन किया। फडणवीस ने राज्य सरकार से मजदूर, किसान, खेतिहर मजदूर, असंगठित मजदूर, टैक्सी और रिक्शा चालक जैसे अन्य तबके के लिए 50,000 करोड़ रुपये के पैकेज देने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को जीडीपी का 5 प्रतिशत तक कर्ज लेने की अनुमति दी है। इससे केंद्र सरकार की गारंटी पर महाराष्ट्र सरकार को एक लाख 60 हजार करोड़ रुपये का कर्ज मिल सकता है, लेकिन राज्य सरकार उसका फायदा उठाने की बजाय केंद्र सरकार की ओर उंगली दिखा रही है।

आंदोलन में बीजेपी के ज्यादातर दिग्गज नेता अपने घर या पार्टी कार्यालय के सामने आंदोलन करते दिखे, लेकिन पंकजा मुंडे नहीं दिखीं। एकनाथ खडसे ने जलगांव में अपने घर के सामने खड़े होकर आंदोलन किया। मुंबई में फडणवीस के साथ मुंबई भाजपा अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढा, पूर्व मंत्री विनोद तावडे, विधायक राहुल नार्वेकर और पूर्व विधायक राज पुरोहित मौजूद थे।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ महाराष्ट्र बीजेपी ने शुक्रवार को जब आंदोलन शुरू किया तो बीजेपी के खिलाफ ट्विटर पर #महाराष्ट्रद्रोहीBJP ट्रेन करने लगा। बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं को लोगों ने ट्विटर पर खूब खरी-खोटी सुनाई। ट्विटर पर लोगों ने कहा कि महाराष्ट्र बचाव की जगह बीजेपी से महाराष्ट्र बचाओ की जरूरत है। कुछ लोगों ने कहा कि बीजेपी गलत वक्त पर आंदोलन कर रही है।

इस समय सबके साथ मिलकर काम करने का है, राजनीति करने का नहीं।' कुछ ने लिखा 'गुजरात के हित के लिए महाराष्ट्र को कर्ज में डुबाने वाले आज महाराष्ट्र बचाओ का नारा लगा रहे हैं।' इस तरह की अनेक पोस्ट ट्विटर पर नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील को संबोधित करते हुए लिखी गई.