मुंबई : कोरोना को दावत दे रही मनपा की लापरवाही

मुंबई : कोरोना वायरस के असर को बढ़ने से रोकने के लिए जहां राज्यभर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वहीं, इसके उलट वसई-विरार महानगरपालिका (वीवीएमसी) की लापरवाही व उदासीनता के चलते शहर की सड़कों के किनारे जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। सोसायटियों में भी फैली हुई गंदगी कोरोना को दावत दे रही है। सफाई पर करोड़ों रुपये खर्च करने का दावा करने वाली वीवीएमसी का स्वच्छता विभाग बंद के दौरान फेल साबित हो रहा है। मनपा के अतिरिक्त आयुक्त रमेश मनाले ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वीवीएमसी की ओर से साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। लेकिन, शहर की सड़कों के किनारे लगे कचरे के ढेर मनाले के बयान की पोल खोल रहे हैं। लोगों का आरोप है कि मनपा की ओर से साफ-सफाई न होने के चलते जगह-जगह गंदगी का ढेर लगा हुआ है।
स्वछता अभियान के तहत 'स्वच्छ भारत, स्वच्छ वसई' का दावा करने वाली मनपा की एक बार फिर पोल खुल गई है। मनपा क्षेत्र के कई स्लम इलाकों में कचरे के ढेर लगे हुए हैं। सफाईकर्मियों के पास मास्क व ग्लब्स नहीं हैं। वे बिना मास्क व ग्लब्स के कचरा उठा रहे हैं। केंद्र सरकार से वीवीएमसी को स्वच्छ भारत के तहत हर वर्ष करोड़ों रुपये की निधि दी जाती है। वर्तमान में क्षेत्र की सफाई व्यवस्था देखकर यही लगता है कि यह निधि सिर्फ कागजों में सिमटकर रह गई है। शहर में बार साफ-सफाई के दावे के बाद भी गंदगी बरकरार है।
नालासोपारा (पूर्व) के संतोषभुवन स्थित शर्मावाडी, अवधूत भगवान विद्यालय के सामने मनपा द्वारा गटर का काम किया जा रहा था। ठेकेदार ने गटर का सारा कचरा लोगों के घरों के आगे रख दिया। 15 दिन बीत जाने के बाद भी यहां से कचरा नहीं उठाया गया है। आसपास के लोगों का कहना है कि कचरे से इतनी तेज दुर्गंध आती है कि लोगों का वहां रहना दूभर हो रहा है। बार-बार शिकायत के बाद भी मनपा अधिकारी व ठेकेदार कचरा उठाने नहीं आते हैं। संक्रमण फैलने से बचने के लिए देश के तमाम हिस्सों में कीटनाशक का छिड़काव किया जा रहा है। वहीं वीवीएमसी क्षेत्र में कहीं भी कीटनाशक का छिड़काव नहीं किया जा रहा है।
तालुका में सबसे अधिक गंदगी वाले क्षेत्रों में वसई पूर्व के सातीवली, भोयदापाडा, चिंचपाडा, वसई पश्चिम में सब्जी मार्केट, अंबाडी रोड, पापडीगांव, वसई कोलीवाडा, नालासोपारा पूर्व के संतोष भुवन, बिलालपाडा, धानिवबाग, वाकनपाडा, नवजीवन, श्रीराम नगर, गोराईपाडा, सेंट्रलपार्क, प्रगतिनगर, नारिया नगर, पश्चिम के हनुमाननगर, सोपारा गांव, टाकीपाडा, स्टेशन परिसर, विरार पूर्व के कारगिल नगर, मनवेलपाडा, सहकार नगर, कातकरीपाडा एवं पश्चिम के डोंगरपाडा, स्टेशन परिसर, बोलींज नाका आदि क्षेत्र शामिल हैं।