19 साल की बॉक्सिंग खिलाड़ी के साथ कोच ने ट्रेन में किया यौन उत्पीड़न

हरियाणा : हरियाणा के सोनीपत में 19 साल की बॉक्सिंग खिलाड़ी के साथ यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। पीड़ित लड़की की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार, 19 साल की बॉक्सिंग खिलाड़ी अपने बॉक्सिंग कोच के साथ ट्रेन में यात्रा कर रही थी, तभी लड़की के अकेली होने का फायदा उठाते हुए उसके 28 वर्षीय कोच ने ट्रेन में ही उसके साथ यौन उत्पीड़न किया। पीड़ित लड़की की शिकायत के आधार पर दिल्ली पुलिस ने आरोपी बॉक्सिंग कोच को रविवार को हरियाणा के सोनीपत से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी कोच से पूछताछ कर आगे की कार्रवाई कर रही है। दिल्ली पुलिस ने पूर्व भारतीय खिलाड़ी और बॉक्सिंग कोच को छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार कोच का नाम संदीप मलिक (28) है। संदीप हरियाणा के सोनीपत जिले में बॉक्सिंग कोचिंग सेंटर चलाता है। संदीप पर एक महिला खिलाड़ी ने हाल ही में पश्चिम बंगाल में हुई बॉक्सिंग चैंपियनशिप और फिर ट्रेन यात्रा के दौरान छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। दिल्ली पुलिस उपायुक्त (डीसीपी रेलवे) हरेंद्र कुमार सिंह ने मंगलवार को घटना और आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि की। डीसीपी के मुताबिक, शिकायतकर्ता 19 साल की महिला खिलाड़ी है। इस महिला खिलाड़ी ने हाल ही में पश्चिम बंगाल में आयोजित हुई क्लासिक बॉक्सिंग चैंपियनशिप-2020 में हिस्सा लिया था। घटना उसी दौरान की है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन थाने में पीड़िता के बयान पर दर्ज एफआईआर के मुताबिक, मामला 13 मार्च 2020 को धारा 354ए (छेड़छाड़) और धारा 376 (दुष्कर्म) के तहत दर्ज किया गया। केस दर्ज करने से पहले पुलिस ने पीड़िता का बयान धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने भी दर्ज कराया था। पुलिस और मजिस्ट्रेट के सामने एक समान बयान मिलने पर पुलिस ने भी एफआईआर दर्ज कर ली।
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन थाने में दर्ज एफआईआर के मुताबिक, पीड़िता हरियाणा राज्य बॉक्सिंग टीम का हिस्सा थी। शिकायतकर्ता महिला खिलाड़ी, आरोपी बॉक्सिंग कोच के साथ जा रही टीम का हिस्सा थी। टीम में कई अन्य खिलाड़ी भी थीं। टीम 27 फरवरी 2020 को नई दिल्ली स्टेशन से दुरंतो एक्सप्रेस से कोलकता के लिए रवाना हुई। ट्रेन की यात्रा के दौरान ही कोच संदीप मलिक ने महिला खिलाड़ी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। ट्रेन से शुरू हुआ यह सिलसिला कोलकाता पहुंचने पर पूरी चैंपियनशिप अवधि में भी बदस्तूर जारी रहा। बात चूंकि अकेले पड़ जाने की थी। साथ ही पीड़िता दूसरे राज्य में थी, जहां उसका अपना कोई भी नहीं था, इसलिए वो आरोपी की हर बदतमीजी को मुंह बंद करके बर्दाश्त करती रही।
डीसीपी ने बताया कि दिल्ली वापस लौटने पर पीड़िता ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन थाना पुलिस से संपर्क करके आपबीती बयान की। उसके बाद ही लड़की का बयान मजिस्ट्रेट के सामने भी धारा 164 के तहत दर्ज कराया गया। एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपी को सोनीपत से सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी कोच संदीप मलिक ने आरोपों को कबूल भी कर लिया है। पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया है कि वो सोनीपत में बॉक्सिंग कोचिंग सेंटर चलाता है। इस सेंटर में वह राष्ट्रीय स्तर के पुरुष और महिला खिलाड़ियों को ट्रेनिंग देता है। संदीप मलिक को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम के ही एक सदस्य के मुताबिक, “गिरफ्तार आरोपी संदीप मलिक सोनीपत के लल्हेड़ी कलां का मूल निवासी है। वो विवाहित और दो बच्चों का पिता है। कुछ समय पहले ही संदीप मलिक ने खुद भी सीनियर नेशनल स्तर की बॉक्सिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था। जिसमें वो क्वार्टर फाइनल तक पहुंचा था। 24 से 28 जनवरी के बीच 60वीं सीनियर पुरुष नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप बेंगलुरु में इंडिया अमेच्योर बॉक्सिंग फेडरेशन के तत्वावधान में आयोजित कराई गई थी। उस प्रतियोगिता में संदीप मलिक ने 75 किलोग्राम आयु वर्ग में मध्य प्रदेश के इंद्रपाल को 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी।
शादी का झांसा देकर एनआरआई ने नर्स से 18 लाख रुपये ठग लिए। पुलिस ने शिकायत के सवा महीने बाद रविवार को साइबर थाने में मामला दर्ज कर और जांच शुरू की है। पुलिस इस मामले में खातों की जानकारी जुटा रही है। जानकारी के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। मूल रूप से रेवाड़ी की महिला ने बताया कि वह गुरुग्राम में एक निजी अस्पताल में नर्स है और गांव वजीराबाद में किराए पर रहती हैं। उन्होंने बताया कि शादी के लिए जीवनसाथी डॉट कॉम पर इसी साल जनवरी में अपना प्रोफाइल अपलोड किया। उसके बाद उनकी बात लंदन में रहने वाले एनआरआई सन्नी पक्का से शुरू हुई। इस दौरान आरोपी ने नर्स से अपनी मां और बच्चे से भी बात कराई। पूरी तरह से उनको यकीन दिलाने के बाद आरोपी ने कहां कि वह भारत आ रहा है। उनसे मिलेगा और शादी की बात करेगा।
महिला ने बताया कि आरोपी ने कहा कि वह 23 जनवरी को लंदन से भारत पहुंच जाएगा। 23 जनवरी को मुंबई एयरपोर्ट से कथित कस्टम अधिकारी पूजा का फोन आया। उसने बताया कि सन्नी को एक लाख पाउंड के साथ पकड़ा गया है। उसे 1.63 लाख रुपये जुर्माना भरना होगा। जुर्माने की राशि कथित कस्टम अधिकारी के बताए गए खाते में ट्रांसफर की गई। अलग-अलग बहाना बनाकर अलग-अलग बैंक खातों में कुल 18 लाख रुपये ट्रांसफर करवाए गए। कुछ रुपये दोस्तों से उधार मांगे थे। इसके साथ ही सन्नी का मोबाइल नंबर भी बंद हो गया। ठगी का एहसास होने के बाद उसने फरवरी में पुलिस को दो फरवरी को शिकायत दी। नर्स ने बताया कि पुलिस को शिकायत देने के बाद कई दिनों तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। कई बार अधिकारियों से भी बात की गई। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। उसके बाद नर्स ने छह मार्च को सीएम विंडो पर शिकायत दी। उसके बाद ही पुलिस ने रविवार को साइबर थाने में मामला दर्ज किया। हालांकि, उन्होंने कहा कि पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया है, लेकिन रुपये मिलने की उम्मीद तक नहीं है।