वर्धा : एसटी महामंडल आर्थिक हालत पतली, रोकी बसस्टैंड परिसर सफाई एजन्सी की राशि

वर्धा : वर्धा शहर सहित समूचे जिले के बसस्टैंड की सफाई करनेवाले कर्मी विगत चार माह से वेतन से वंचित है. कर्मचारियों का करीब सवा करोड रुपए का वेतन बकाया है. परिणाम स्वरुप सफाई कर्मी तथा उनके परिवार पर भूखे रहने की नौबत आन पडी है, जिससे कर्मचारियों ने काम बंद करने से सभी बसस्टैंड पर सफाई का काम प्रभावित हुआ है. वर्धा जिले के सभी बसस्टैंड के सफाई का ठेका ब्रक्सि इंडिया प्रायवेट लिमिटेड कंपनी को दिया गया है. इस कंपनी अंतर्गत जिलेभर में करीब 80-90 सफाई कर्मचारी कार्यरत है. परंतु विगत चार माह से इन कर्मचारियों को वेतन नही मिला है. वेतन के तौर पर करीब सवा करोड रुपए महामंडल की ओर बकाया है. इससे पूर्व कंपनी के बिल नियमित रुप से महामंडल निकालता था. जिस कारण कर्मचारियों को भी नियमित वेतन मिलता था. परंतु गत अक्टूबर माह से कर्मचारियों को वेतन ही नही मिला है. सितम्बर तक कर्मचारियों को वेतन दिया गया.

 लेकिन नवम्बर से फरवरी तक का बिल ही महामंडल ने नही निकाला. जिससे अब विगत चार माह से सफाई कर्मी वेतन की प्रतक्षिा कर रहे है. परंतु सही जवाब नही मिलने से कर्मचारियों ने काम करना ही बंद कर दिया है. जिसके कारण बसस्टैंड की साफ-सफाई चरमरा गई है. जिससे परिसर में गंदगी का साम्राज्य नर्मिाण हो गया है. यह स्थिति वर्धा बसस्थानक के साथ समूचे जिलेभर बसस्थानक पर देखी जा रही है. उल्लेखनीय है कि, कंपनी द्वारा नियमित रुप से बिल महामंडल को भेजा जा रहा है. परंतु महामंडल ने ही बिल पास नही किया है.

 जिससे जिले के 80 से 90 सफाई कर्मी वेतन से वंचित है. वही कंपनी के अधिकारी का कहना है कि, महामंडल से इस संबंध में पूछा गया है, लेकिन सेंट्रल आफिस से फंड नही मिलने से बिल बकाया होने की बात कही जा रही है. लेकिन विगत चार माह से बिल नही निकलने के कारण सफाई कर्मी तथा उनके परिवार पर आर्थिक संकट आया है. जिस कारण कर्मचारियों ने अपना रोष व्यक्त करते हुए बसस्टैंड सफाई का काम बंद कर दिया है. जब तक वेतन नही मिलता, तब तक काम शुरु नही होगा, ऐसी भूमिका सफाई कर्मियों द्वारा लेने से जिले के बसस्थानक की सफाई नही हो रही है. 

 विगत चार माह से वेतन से वंचित सफाई कर्मियों ने नागपुर स्थित लेबर कोर्ट में अपील दायर की है. जनवरी माह में अपील दायर की गई. वेतन के अभाव में सफाई कर्मियों को आर्थिक समस्या का सामना करना पड रहा है. इस अपील पर आगामी कुछ दिनों में सुनवाई होगी.  इस संबंध में कंपनी के सुपरवाईजर गणेश श्रीरामे से संपर्क करने पर उन्होने बताया कि, कंपनी द्वारा सफाई कर्मियों के वेतन को लेकर नवम्बर माह में बिल दिया गया. परंतु कंपनी ने अभी तक बिल पास नही किया है. जिस कारण सफाई कर्मियों का वेतन अदा नही हो पाया. अब इंतजार करने के अलावा कंपनी के पास भी कोई विकल्प नही है. एसटी के विभागीय प्रबंधक चेतन हसबनीस ने बताया कि, निधि का अभाव होने से समस्या पैदा हुई है. किंतु सफाई कर्मी के वेतन की समस्या हमारी नही है. इस संबंध में एजंसी ने ध्यान देना चाहिए.