ठाणे : आपसी विवाद के चलते मनपा के सालाना बजट में देरी

ठाणे : मनपा आयुक्त, अधिकारी और जन प्रतिनिधियों के आपसी विवाद के कारण ठाणे मनपा का सालाना बजट पेश होने में देरी होने की संभावना बढ़ गई है, जबकि जिले की क और ड वर्ग की अन्य महानगर पालिकाओं का बजट पेश किया जा चुका है, लेकिन ब वर्ग की ठाणे महानगर पालिका का बजट अभी भी अधर में लटका हुआ है. इतना ही नहीं महापौर और स्थाई समिति सभापति ने भी प्रशासन को पत्र लिखकर मार्च महीने के अंत तक बजट को मंजूरी देने के लिए पत्र लिखा था. 

पिछले कुछ सालों में बजट को जानबूझकर प्रशासन द्वारा देरी से पेश करने और  31 मार्च के पहले मंजूर होने के बावजूद अमल में नहीं लाने का मामला सामने आया था. जिसका विपरीत परिणाम नागरी सुविधाओं की उपलब्धता पर पड़ रहा था. ऐसे में  विकास काम समय पर पूरा नहीं होने के कारण नागरिकों के रोष का सामना  स्थानीय जन प्रतिनिधियों को करना पड़ रहा था. इतना ही नहीं मनपा कार्य क्षेत्र के नागरिक भी इस संदर्भ में सत्ताधारी से सवाल पूछ रहे थे. ऐसे में इस बार वर्ष 2020-2021 का सालाना बजट समय पर मंजूर हो और 31 मार्च तक प्रशासन की तरफ से इसे अमल में लाए ऐसी मांग महापौर नरेश म्हस्के ने प्रशासन से किया था और इस बार समय पर बजट पेश होगी ऐसी अपेक्षा महापौर ने व्यक्त किया था. इसी बीच मनपा के उपायुक्त और सहायक आयुक्त पद के कुछ अधिकारियों का आंतरिक तबादला करने के बाद नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे द्वारा स्थगन दिए जाने से आयुक्त जायसवाल नाराज हैं क्योंकि इस स्थगन को रोकने में मनपा के कुछ अधिकारियो की संलिप्तता सामने आई थी.

इसी बीच आयुक्त द्वारा अधिकारियों के व्हाटसप ग्रुप पर एक विवादित मैसेज वायरल होने के कारण वर्तमान समय में मनपा आयुक्त और और मनपा के कुछ अधिकारियों के बीच बन नहीं रही है. इस विवाद में कुछ जन प्रतिनिधियों द्वारा उड़ी मारने के चलते यह विवाद और गहरा गया है. इन सभी बातों से नाराज होकर आयुक्त संजीव जायसवाल ने राज्य के मुख्य सचिव के पास कुढ़ का तबादला करने अथवा एक मार्च से लंबी छुट्टी पर भेजने का आवेदन किया है. हलांकि यह आवेदन अभी तक राज्य सरकार की तरफ से मंजूर नहीं हुआ है. ऐसे में आयुक्त द्वारा ली गई कड़ी भूमिका के कारण अब बजट लटकता दिखाई दे रहा है. 

मनपा सूत्रों की मानें तो आयुक्त संजीव जायसवाल बहरहाल मुख्यालय नहीं आ रहे हैं, लेकिन अधिकतर प्रशासनिक कामकाज वे बंगले में बैठकर ही कर रहे हैं. मंगलवार को भी आयुक्त जायसवाल ने बंगले पर अधिकारियों की एक बैठक बुलाई थी. इस बैठक में वे सालाना बजट के प्रस्तुतीकरण को लेकर चर्चा भी की. लेकिन सवाल यह उठ रहा है कि बजट कौन पेश करेगा. मनपा सूत्रों की मानें तो आयुक्त जायसवाल बुधवार को मनपा मुख्यालय आने वाले हैं और लंबी छुट्टी पर जाने का निर्णय लिया है और आयुक्त का चार्ज अतिरिक्त आयुक्त-1 राजेंद्र अहिरवर को सौंपने वाले हैं.