एटीएम उखाड़ रहे थे बदमाश, छत से युवकों ने ईंट-पत्थर बरसाए तो छोड़कर भागे, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

उरलाना कलां में फारच्यूनर में आए पांच बदमाश एटीएम को उखाड़ने का प्रयास कर रहे थे, इसी बीच गांव के ही दो युवक मौके पर पहुंचे और बदमाशों पर ईंट पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। एक बदमाश ने ग्रामीण युवकों पर पहले दो फायर किए लेकिन वह नहीं डरे, उसके बाद एक बदमाश ने तीन हवाई फायर किए लेकिन जब ग्रामीण लगातार ईंट पत्थर फेंकते रहे तो आरोपी सड़क पर ही एटीएम को छोड़कर फरार हो गए। 

वहीं, ग्रामीणों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस एक किलोमीटर दूर से ही सायरन बजाते हुए मौके पर पहुंची, आरोपी उस समय घटनास्थल पर थे, सायरन सुनते ही आरोपी चौकन्ना हुए और पुलिस के आते ही भाग गए। इसके साथ ही ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस खाली हाथ घटनास्थल पर पहुंची, जबकि बदमाशों के पास हथियार थे। अगर पुलिस भी हथियार के साथ घटनास्थल पर पहुंचती तो शायद आरोपियों को मौके पर ही पकड़ा जा सकता था।

गांव उरलाना कलां निवासी संदीप ने बताया कि वह बुधवार रात को करीब साढे़ 12 बजे सो रहे थे। उनकी मां ने बाहर एटीएम के पास हलचल सुनी तो मां ने आकर उन्हें जगाया। जिसके बाद वह अपने भाई दीपक के साथ छत पर पहुंचे, जहां उन्होंने देखा कि दो युवक गैस कटर से शटर को काट रहे थे। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी और आरोपियों को खुद घटनास्थल से जाने की बात कही लेकिन एक आरोपी ने हवाई फायर किया और उन्हें छत से नीचे जाने की धमकी दी। आरोपी की तरफ से हवाई फायर करते ही उन्होंने ईंट-पत्थरों से उन पर हमला कर दिया। आरोपी फायरिंग करते रहे वह बचाव करते हुए सामने से ईंट पत्थर से उन पर वार करते रहे। तब तक आरोपी एटीएम को उखाड़कर बाहर लेकर आ चुके थे। वहीं, जब एक आरोपी को पत्थर लगा वह गाड़ी के पीछे जाकर छिप गया। उसके बाद उसके साथ तीन युवक और आए और उन्होंने भी वार करना शुरू कर दिया। आरोपी बचाव में गाड़ी के अंदर बैठ गए। वहीं इतनी देर में पुलिस पहुंची, जिसको देख आरोपी फरार हो गए। 

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस सायरन बजाते हुए मौके पर पहुंची। वहीं, बदमाशों को जब सायरन की आवाज सुनी व चौकन्ना हुए और मशीन को सड़क पर छोड़ गाड़ी में बैठ गए। वहीं, पुलिस आरोपियों के पास पहुंच चुकी थी लेकिन जैसे ही पुलिस पहुंची तो आरोपी पुलिस की गाड़ी के सामने से गुजर गए और पुलिस कुछ न कर सकी। वहीं पुलिस ने आरोपियों का पीछा भी किया। दोनों सगे भाइयों ने करीब 10 मिनट तक आरोपियों पर ईंट-पत्थर बरसाए, जिसके कारण आरोपी सामने से मशीन को गाड़ी में नहीं डाल सके। वहीं, इस काबिलियत पर ग्राम पंचायत ने उन्हें बधाई दी। वहीं, कैशियर ने बताया कि मशीन में करीब साढे़ 23 लाख रुपये थे, जिनको दोनों भाइयों ने बचाया है।