मुंबई : सीएए और एनआरसी के खिलाफ वंचित बहुजन अघाड़ी ने बुलाया महाराष्ट्र बंद, मिला-जुला असर

मुंबई : नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) , एनआरसी और केंद्र की आर्थिक नीतियों के खिलाफ प्रकाश आंबेडकर के नेतृत्व वाले वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) ने महाराष्ट्र बंद बुलाया है। बंद का मिला-जुला असर देखने को मिल रहा है। पुणे में सड़कों में हलचल सामान्य रही। स्कूल और कॉलेज खुले हैं तो स्टूडेंट्स की चहल-पहल भी देखने को मिली। बाजार और दुकानें भी खुली हैं वहीं वाहनों का आवागमन भी सामान्य है। प्रकाश आंबेडकर ने गुरुवार को पत्रकारों से मुखातिब होते हुए बताया, 'आज की बैठक में हमने उन लोगों को आमंत्रित किया जिन्होंने सीएए और एनआरसी के खिलाफ महाराष्ट्र भर प्रदर्शन किया। इस मुद्दे को लोगों के सामने उठाने के लिए हमने 24 जनवरी को महाराष्ट्र बंद का आवाह्न किया है।' उन्होंने बताया, 'सीएए-एनआरसी के अलावा अर्थव्यवस्था का मुद्दा उठाया जाना भी जरूरी है। इससे पहले प्रकाश आंबेडकर ने कहा था कि सीएए और एनआरसी का अनुसूचित जाति और जनजाति पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।'बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन का दौर है, वहीं इसके समर्थन में भी रैलियां निकाली जा रही हैं। इस कानून के तहत 31 दिसंबर 2014 को या इससे पहले पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आए हिंदू, सिख, जैन, पारसी, बौध और ईसाइयों शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है।