सतीश ने 5 दिन पहले रची थी पत्नी और बहू को मारने की साजिश

सिंगापुर : रोहिणी के विजय विहार इलाके में पत्नी और बहू की हत्या की साजिश आरोपी बुजुर्ग ने पांच दिन पहले रची थी। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने यह खुलासा किया। पुलिस को आरोपी ने बताया कि उसने हत्या के लिए पांच दिन पहले बाजार से मीट काटने वाला बड़ा चाकू खरीदा था। आरोपी ने बताया कि 2 दिसंबर को उसका पत्नी स्नेहलता और बहू प्रज्ञा से झगड़ा हुआ था। आरोपी सतीश चौधरी ने दोनों से ज्वेलरी व नकदी देने को कहा था, लेकिन दोनों ने मना कर दिया। इस पर उसका झगड़ा हुआ था। यह बात प्रज्ञा ने गौरव को बताई। इसके बाद सतीश के पास गौरव का फोन आया और उसने कहा कि अगर वह नहीं माना तो वह पत्नी और मां को सिंगापुर बुला लेगा। इस पर आरोपी तब तो चुप हो गया, मगर इसके बाद ही उसने हत्या की साजिश रची। वह पहले चार दिसंबर की रात को वारदात को अंजाम देने वाला था, लेकिन सौरव के घर पर होने के चलते उसे मौका नहीं मिल पाया।
आरोपी को जेल भेज दिया : पुलिस ने शनिवार को सास-बहू के शव परिजनों को सौंप दिया, जिसके बाद एक ही जगह उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस ने दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
आरोपी का बड़ा बेटा गौरव चौधरी शुक्रवार रात सिंगापुर से दिल्ली पहुंचा। उसे मां और पत्नी की हत्या की जानकारी नहीं दी गई थी। एयरपोर्ट से घर आते समय छोटे भाई सौरव ने उसे घटना की जानकारी दी। घर पर पुलिस ने भी उससे पूछताछ की। गौरव को अपने पिता के सनकी स्वभाव के बारे में पता था, लेकिन वह इस तरह का कदम उठा लेंगे, इससे वह अचंभित है। पत्नी और मां की हत्या से टूट चुका गौरव अपने बच्चों से मिला। बच्चे ननिहाल में थे। बच्चों से मिलकर वह फूटफूट कर रो पड़ा।