रुपये बचाने के लिए तीन दिन के सीएम बने थे देवेंद्र फडणवीस: अनंत कुमार हेगड़े

मुंबई : महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के एनसीपी नेता अजित पवार के साथ मिलकर पहले सरकार बनाना और बाद में बहुमत परीक्षण से एक दिन पहले ही इस्तीफा देने को लेकर विरोधी उन पर 3 दिन का सीएम' तंज कस रहे हैं। हालांकि, बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े का 3 दिन के सीएम' पर अलग तरह का ही दावा है। उत्तर कन्नड़ कर्नाटक से बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगेड़े ने कहा है कि केंद्र के 40 हजार करोड़ रुपये बचाने के लिए बहुमत न होने के बावजूद देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाया गया था। हेगड़े ने कहा, आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा आदमी 40 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बना। फिर फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा भी दे दिया। उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया? क्या हम यह नहीं जानते थे कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बने। हर कोई यह सवाल पूछ रहा है। अनंत कुमार हेगड़े ने आगे कहा, वहां मुख्यमंत्री के नियंत्रण में केंद्र के 40 हजार करोड़ रुपये थे। वह जानते थे कि यदि कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की सरकार सत्ता में आ जाती है तो वे विकास के बजाए रकम का दुरुपयोग करेंगे। इस वजह से यह पूरा ड्रामा किया गया। फडणवीस मुख्यमंत्री बने और 15 घंटे में केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपये वापस कर दिए गए। उधर, महाराष्ट्र की नवगठित सरकार की दूसरी बैठक के बाद मीडिया से मुख्यमंत्री उद्धव ने कहा था, 'मैंने अधिकारियों को आरे मेट्रो कार शेड प्रॉजेक्ट का काम रोकने का आदेश दिया है। फिलहाल मेट्रो के काम पर कोई रोक नहीं है, लेकिन सरकार के अगले आदेश तक आरे में एक भी पत्ता नहीं काटा जाएगा। उधर, महाराष्ट्र की नवगठित सरकार की दूसरी बैठक के बाद मीडिया से मुख्यमंत्री उद्धव ने कहा था, 'मैंने अधिकारियों को आरे मेट्रो कार शेड प्रॉजेक्ट का काम रोकने का आदेश दिया है। फिलहाल मेट्रो के काम पर कोई रोक नहीं है, लेकिन सरकार के अगले आदेश तक आरे में एक भी पत्ता नहीं काटा जाएगा।'