सर्दियों में ट्रेन लेट होने पर रेलवे भेजेगा संदेश

आगरा : सर्दियों में कोहरे के कारण ट्रेन लेट होने पर रेलवे ने यात्रियों के मोबाइल पर मैसेज भेजने की योजना बनाई है। ट्रेन के एक घंटे से अधिक देरी होने पर मोबाइल पर संदेश भेजकर यात्रियों को सूचित किया जाएगा। आगरा रेल मंडल ने बताया कि रेलवे यात्रियों की छोटी-बड़ी सुविधा के लिए हर संभव प्रयास करता है। उसी कड़ी में यह भी है। ठंड का मौसम शुरू हो गया है। इस कारण ट्रेनों की आवाजाही में देरी हो जाती है।

इस बार रेलवे ने ट्रेन में देरी न हो, इसके लिए एंटी फॉग डिवाइस भी लगाया है। फिर भी ट्रेन के आने में अगर विलंब होता है तो यात्रियों को मोबाइल पर संदेश भेज कर सूचना दी जाएगी। इस पर कार्य किया जा रहा है। जल्द ही योजना साकार हो जाएगी। ट्रेन के एक घंटे से अधिक देर होने पर संदेश भेजा जाएगा। इसमें ट्रेन की लोकेशन और स्टेशन पर पहुंचने का संभावित समय भी अंकित किया जाएगा। इस सुविधा का लाभ उसी को मिलेगा, जिसने ट्रेन में आरक्षण कराते समय अपना मोबाइल नंबर अंकित किया होगा। इस नंबर को सिस्टम में फीड कर दिया जाएगा। इसके अलावा रेलवे कोहरे के लिए ट्रेनों में फॉग सेफ्टी डिवाइस लगा रहा है। जिससे लोको पायलट तक ऑडियो-वीडियो के माध्यम से सिग्नल की जानकारी पहुंचेगी। इससे यात्रियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। उन्हें भी सूचना मिलती रहेगी।

विवेक एक्सप्रेस भारत की सबसे लंबी दूरी की रेलगाड़ी

नई दिल्ली : देश के अलग-अलग राज्यों के विभिन्न क्षेत्रों से एशिया के सबसे बड़े नेटवर्क में से एक भारतीय रेलवे में रोजाना लाखों यात्री यात्रा करते हैं। भारत की ट्रेनें जम्मू में हिमालय से शुरू होती हैं और भारत की मुख्य भूमि के दूसरे सिरे पर तमिलनाडु के लाकादीव सागर में कन्याकुमारी में समाप्त होती हैं। इसी कड़ी में सबसे लंबा मार्ग तय करती है विवेक एक्सप्रेस। रेलवे के अनुसार, डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी तक का सफर तय करने वाली विवेक एक्सप्रेस दूरी और समय के मामले में भारतीय रेलवे के सबसे लंबे मार्ग की यात्रा करती है। यह दुनिया में 9वां सबसे लंबा मार्ग भी है। विवेक एक्सप्रेस 82 घंटे और 50 मिनट में 4,230 किलोमीटर का सफर तय करती है। इसका मतलब है कि यह नौ राज्यों को कवर करते हुए अपनी यात्रा के दौरान चार दिन 10 घंटे और 55 मिनट का समय लेती है। डिब्रूगढ़ से ट्रेन शनिवार रात 11.05 पर निकलती है और कन्याकुमारी बुधवार सुबह 9.55 पर पहुंचती है। गंतव्य स्थान पर पहुंचने से पहले अपनी यात्रा के दौरान ट्रेन 56 स्टेशनों पर रुकती है। विवेक एक्सप्रेस के बाद दूसरे स्थान पर सबसे ज्यादा लंबा सफर तय करने वाली ट्रेन हिमसागर एक्सप्रेस है, जो माता वैष्णो देवी कटरा से कन्याकुमारी तक की यात्रा करती है। ट्रेन 72 घंटे और 30 मिनट की अपनी यात्रा में 3,785 किलोमीटर की दूरी तय करती है।