PMC बैंक घोटाले में नया खुलासा: अनीता किरदत नामक ऑडिटर HDIL से भी जुड़ी हुई थी

मुंबई : मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने कई हजार करोड़ रुपये के PMC बैंक घोटाले मामले में अनीता किरदत नामक ऑडिटर को गिरफ्तार किया है। उससे पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं। अनीता को किला कोर्ट ने 19 नवंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। इस केस में यह आठवीं गिरफ्तारी है। इस केस की जांच से जुड़े सूत्रों के अनुसार, अनीता उस HDIL से भी जुड़ी हुई थी, जिसे PMC बैंक प्रबंधकों ने करीब 71 प्रतिशत बैंक का लोन दे दिया था। उसे ऑडिटिंग का काम बैंक के पूर्व एमडी जॉय थॉमस ने दिया था। आरोप है कि थॉमस की अगुआई में बैंक मैनेजमेंट ने कंस्ट्रक्शन कंपनी HDIL को लोन दिलाने के लिए हजारों डमी अकाउंट खोले हुए थे। यह खेल करीब 10 सालों से चल रहा था। जांच टीम का कहना है कि अनीता ने ऑडिटिंग के दौरान जानबूझकर गड़बड़ियों को अनदेखा किया। बदले में उसे कई लाख रुपये रिश्वत में मिले। उसने बैंक की पिछले कई सालों में 150 से ज्यादा बार ऑडिटिंग की। फिर भी कोई गलती नहीं पकड़ी। अनीता को किला कोर्ट ने 19 नवंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। इस केस में यह आठवीं गिरफ्तारी है। इनमें बैंक के टॉप मैनेजमेंट, HDIL प्रमोटरों समेत तीन ऑडिटर भी हैं।