मुंबई महानगर में बढ़ गई फर्जी विद्यार्थियों की संख्या

मुंबई : महानगर में फर्जी विद्यार्थियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। कॉमन एंट्रेंस टेस्ट सेल (सीईटी सेल) जांच में 29 और फर्जी विद्यार्थियों की पहचान की गई है। कुछ दिनों पहले सेल ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर एमबीए में प्रवेश के लिए आवेदन करने वाले 187 विद्यार्थियों की पहचान की थी। इसमें से 25 विद्यार्थी एमबीए में प्रवेश लेने में सफल हो गए थे। मामला सामने आने के बाद सेल में बीते पांच सालों में निजी कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के दस्तावेज की जांच का निर्णय लिया था। जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया था। जांच में विभिन्न कॉलेजों में पढ़ रहें 29 और विद्यार्थी रडार पर आ गए हैं। अधिकारियों के अनुसार प्राथमिक जांच में विद्यार्थियों के दस्तावेज में खामी मिली है। उनके द्वारा जमा किये गए दस्तावेज में लिखे नाम में बदलाव करने की बात सामने आ रही है। नए मामले सामने आने के बाद कॉलेजों में पढ़ने वाले फर्जी विद्यार्थियों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है। आकड़ों के अनुसार बीते 5 सालों में निजी कॉलेजों की प्रवेश परीक्षा के माध्यम से 3 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने कोर्स में प्रवेश लिया है। अब यह सभी विद्यार्थी सेल के रडार पर हैं।