अंधेरी पश्चिम विधानसभा में अशोक भाऊ जाधव की चर्चा तेज

अंधेरी पश्चिम विधानसभा से कांग्रेस व बीजेपी के जिन २ उम्मीदवारों के विरुद्ध उन्हीं के पार्टी कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों ने बिगुल बजाया था. पार्टी ने उन्हें ही टिकट दिया है. कांग्रेस पार्टी से अंधेरी पश्चिम विधानसभा से अपने भरोसेमंद एवं पूर्व आमदार अशोक भाऊ जाधव को मैदान में उतारा है. पिछले ५ वर्षों से विधायक ना होने के बावजूद अशोक भाऊ जाधव अपने विधानसभा क्षेत्र से जुड़े हुए थे. साथ ही साथ स्थानीय जनता की समस्याओं को सरकार के समक्ष लाते रहे. स्थानीय जनता के साथ-साथ जिसका फायदा इस वर्ष कांग्रेस प्रत्याशी अशोक भाऊ जाधव को हो सकता है. अशोक भाऊ जाधव की छवि जमीन से जुड़े नेता के रूप में स्थानीय जनता के साथ है. सन २००९ से लेकर १४ तक अंधेरी पश्चिम विधानसभा से विधायक रह चुके अशोक भाऊ जाधव गरीब आदिवासियों के साथ किसी तरह का उंच-नीच का भेदभाव ना रखते हुए सभी को समान सम्मान देने वाले  नेता है.
वह किसी भी समारोह में कार्यक्रम पूजा-विवाह, शुभ यात्रा ऐसा कोई भी कार्यक्रम नहीं जिसमें सम्मिलित ना हों. इसके साथ ही साथ मुंबई में कांग्रेस पार्टी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सभी कार्यकर्ताओं-पदाधिकारियों को सम्मान देने वाले हैं. अशोक भाऊ जाधव ने अगर अनुभव की बात करें तो ३५ वर्षों से भी अधिक सार्वजनिक जीवन में साफ-सुथरी छवि वर्ष २००९ से २०१४ तक विधायक निधि का १००³ उपयोग. स्थानीय जनता के हितों के लिए विशेष निधि हासिल करना अपने विधायक कार्यकाल के समय में ५ वर्ष के सर्वश्रेष्ठ विधायक का सम्मान हासिल, विधानसभा में ८०० से अधिक गुणवत्ता प्रश्न पूछने वाले विधायक बने. अपने विधानसभा कार्यकाल में ९७ से अधिक की उपस्थिति विधानसभा में दर्ज की, विकास स्वास्थ्य क्षेत्र बाढ़ से बचाओ, पेयजल, शौचालय इत्यादि कार्य अपने विधानसभा क्षेत्र में विधायक रहते हुए किया.कूपर हॉस्पिटल का नवीनीकरण, अंबोली में समाज कल्याण केंद्र जो कोलीवाड़ा में सुनील दत्त पार्क बाढ़ से बचने के लिए, फेरला में पंपिंग स्टेशन रल्प्ल्-न्ीेदन्a में जॉगर्स पार्क, महात्मा गांधी व छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा, विलासराव देशमुख पार्क, बच्चों के लिए इत्यादि महत्वपूर्ण कार्य किए.
अंधेरी पश्चिम विधानसभा में वर्ष २०१४ से लेकर १९ तक जो विकास कार्य होने थे जैसे झुग्गी-झोपड़ियों का पुर्नवसन, खराब जल निकास व्यवस्था, फेरीवालों के लिए नीतियों का अभाव, पैदल यात्रियों के लिए सुगम मार्ग का निर्माण, मोगरा पाडा के सड़क चौड़ीकरण, अंधेरी पश्चिम की मूलभूत व्यवस्थाओं में सुधार आदि महत्वपूर्ण कार्य को अनदेखा किया गया. इसके विपरीत कदम उठाया गया जिसका विरोध आंदोलन, पदयात्रा सरकार को ज्ञापन इत्यादि माध्यमों से अशोक जाधव जाधव व उनके कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने की. यह लेख हम अशोक भाऊ जाधव के समर्थन में नहीं लिख रहे हैं बल्कि स्थानीय अंधेरी पश्चिम की जनता के हितों की जानकारी जनता तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं. जनता ही एक ऐसा माध्यम है जो कि अपने समाज के सुधार स्वयं कर सकती है. जनता जिसे सत्ता या कुर्सी सौंपना चाहती है. वह व्यक्ति क्या उस कुर्सी का हकदार है? अंधेरी पश्चिम विधानसभा की जनता दोनों मुख्य पार्टियों के कांग्रेस और बीजेपी के दोनों विधायकों को अशोक भाऊ जाधव व अमित साटम का कार्यकाल अपने सामने देखा है. पिछले १० वर्षों में दोनों ही उम्मीदवारों ने अपना - अपना ५ वर्ष का कार्यकाल समाप्त किया है.
स्थानीय जनता को ही फैसला करना है कि वह इस विधानसभा चुनाव में किसे अपना विधायक चुनती है? क्योंकि आने वाले ५ वर्षों में विधायक उनके क्षेत्र का विकास या जैसे चल रहा है वैसे ही चलने देगा? आप सभी पाठकों से अनुरोध है कि आप सभी मतदान जरूर करें, मतदान हमारा अधिकार व कर्तव्य दोनों है, क्योंकि यह एक मात्र माध्यम है जिससे हम अपने समाज राज्य एवं राष्ट्र का चुनाव स्वयं करते हैं कि कौन नेतृत्व हमारा करेगा?