आगाज में ही तनाव, अंजाम न जाने क्या होगा

ठाणे : ठाणे में शिवसेना और बीजपा के बीच चुनावी जंग का आगाज ही तनाव से हो रहा है ऐसे में अंजाम पता नहीं किया होगा, लेकिन ईंट का जवाब पत्थर से दिया जा रहा है। शिवसेना ने बीजपा की एक सीट पर प्रचार न करने की बात कही है, जवाब में बीजपा ने शिवसेना की तीन सीटों पर प्रचार न करने का पलटवार कर दिया है। बता दें कि ठाणे शुरू से शिवसेना का गढ़ रहा है। ऐसे में ठाणे शहर विधानसभा सीट को पाने के लिए स्थानीय स्तर पर शिवसेना की तरफ से एड़ीचोटी का जोर लगाया गया था,लेकिन गठबंधन में यह सीट बीजपा के खाते में हैं। बीजपा ने अपने वर्तमान विधायक संजय केलकर को यहां से वापस उम्मीदवारी दी है। इस सीट को लेकर दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में भीतर ही भीतर तनाव है।

स्थानीय शिवसैनिक पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि वह भाजपा का प्रचार नहीं करेंगे। मंगलवार को बीजपा की तरफ से संजय केलकर की उम्मीदवारी घोषित होते ही केलकर के समर्थकों ने खुशी का इजहार करते फिर रहे थे, लेकिन शिवसेना खेमे में निराशा दिखी। अब भाजपा की तरफ से जस का तस उत्तर देते हुए कहा जा रहा है कि यदि शिवसेना ठाणे शहर सीट पर असहयोग का रवैया अपनाएगी तो बीजपा के लोग भी शिवसेना को मिली ठाणे की तीन विधानसभा सीटों पर शिवसेना उम्मीदवार का प्रचार नहीं करेंगे। ठाणे शहर की ओवला - माजिवाड़ा, कोपरी - पाचपाखाडी और कलवा-मुंब्रा तीनों सीट शिवसेना को पास हैं।