कच्ची उम्र में चढ़ा शादी का खुमार, पहले घर छोड़ा, जब पुलिस ने परिवार को किया फोन तो...

लड़के की उम्र 12 बरस तो लड़की 13 साल है। कच्ची उम्र दोनों एक-दूसरे को दिल दे बैठे। खेलने-कूदने और पढ़ने-लिखने की उम्र में शादी का ख्वाब संजो लिया। दोनों बच्चों के घर वाले शादी के लिए राजी नहीं थे, तो दोनों घर भाग निकले। ट्रेन में सवार होकर अलीगढ़ जंक्शन जा पहुंचे। मासूम प्रेमी-प्रेमिका स्टेशन पर रो रहे थे। पुलिस ने पूछताछ की, तो दोनों ने प्रेम कहानी सुना दी। पुलिस ने दोनों के घर वालों को बुलाया, लेकिन वह उन्हें लेने नहीं पहुंचे। दोनों के परिजनों ने उनसे किनारा करते हुए अपने फोन भी बंद कर लिए। बाल कल्याण समिति ने इस मामले को खुद निगरानी में ले लिया है।
रविवार रात रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म सात पर आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक को चेकिंग के दौरान दोनों बच्चे रोते मिले थे। दोनों ने खुद को एत्माउद्दौला थाना क्षेत्र के नरायच का निवासी बताया था। बालक ने अपनी उम्र 12 और बालिका की उम्र 13 वर्ष बताई थी। पहले दोनों खुद को भाई-बहन बताने लगे। बाद में उन्होंने एक-दूसरे से प्रेम करने की बात स्वीकार की थी। बताया था कि वह शादी करना चाहते हैं। मगर, दोनों के परिवार वाले तैयार नहीं हैं। इसकी जानकारी आरपीएफ ने चाइल्ड लाइन को दी। चाइल्ड लाइन ने दोनों के परिजनों से संपर्क किया, तो उन्होंने मंगलवार को बच्चों को साथ ले जाने की बात कही थी। लेकिन, मंगलवार को दोनों के परिवार वाले नहीं आए और अपने फोन भी स्विच ऑफ कर लिए। उनसे संपर्क नहीं हो सका। आज बाल कल्याण समिति सुनाएगी फैसला: बाल कल्याण समिति की ओर से दोनों बच्चों की निगरानी की जा रही है। अगर, आज बुधवार को दोनों बच्चों के परिवार वाले नहीं आए तो आगे का फैसला समिति अपने स्तर से करेगी। चाइल्ड लाइन प्रभारी ज्ञानेंद्र मिश्रा के अनुसार बच्चों के परिवार वाले बुलाने पर भी नहीं आए हैं। उनसे संपर्क भी नहीं हो पा रहा है।