पुलिस मुखबिरी के आरोप में हमले की तैयारी में नक्सली संगठन, अलर्ट जारी

पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर नक्सली हमले की साजिश रच रहे हैं। पुलिस मुख्यालय ने लखीसराय एसपी को पत्र लिख नक्सलियों की साजिश की जानकारी दी है और सतर्क भी किया है। नक्सलियों ने लखीसराय जिले के किउल स्थित सिंघचक गांव के रहने वाले बबलू यादव पर हमले की फिराक में हैं। नक्सलियों का मानना है कि बबलू पुलिस के लिए मुखबिरी करता है।
 इसकी जानकारी मिलने के बाद खुफिया विभाग ने सतर्क किया है। हाल के महीनों में नक्सली कमांडरों की सक्रियता बढ़ी है। भागलपुर और मुंगेर पुलिस रेंज के नक्सल प्रभावित जिलों में कई बड़े नक्सली कमांडर देखे गये हैं। इनामी नक्सल कमांडर जमुई और आसपास के जिलों में कैडर के साथ हाल के दिनों में कई बार देखे जा चुके हैं। अर्जुन कोड़ा, सिद्धू कोड़ा और बालेश्वर कोड़ा जैसे इनामी नक्सली कमांडर जमुई जिले के रहने वाले हैं पर मुंगेर और लखीसराय के जंगलों में अक्सर देखे जा रहे।
खुफिया विभाग की रिपोर्ट से पता चला है कि नक्सली अपने समर्थकों से अपने ठिकानों तक खाद्य सामग्री मंगवा रहे हैं। सिद्धू कोड़ा कैडर के साथ जमुई के खैरा थाना क्षेत्र के अहराडीह साकदारी के आस-पास भ्रमणशील हैं। ऐसी सूचना है कि वह अपने समर्थकों से खाद्य सामग्री मंगवा रहा है और पुलिस की गतिविधि पर भी उसने नजर बनाई हुई है।
18 अगस्त - लखीसराय जिले के चानन में पुलिस मुखबिरी के आरोप में बाइक सवार नक्सलियों ने एके 47 से चानन थाना के मननपुर महादलित टोला मुख्य सड़क पर मदन यादव और छोटू कुमार को भून दिया था।
16 जनवरी - जमुई जिले के चकाई थाना इलाके के गुरुदबाद गांव में नक्सलियों ने हमला बोलते हुए मोहम्मद उस्मान अंसारी और मोहम्मद गुलाम की हत्या कर दी थी। पुलिस मुखबिरी में इनकी हत्या करने की बात सामने आयी थी।
तीन सितंबर 2018 - लखीसराय के कजरा थाना क्षेत्र के कानीमोह गांव में नक्सलियों ने एक महिला बसंती देवी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। शव को समीपवर्ती जंगल में फेंक दिया। महिला की हत्या भी पुलिस मुखबिरी को लेकर की गयी थी।
21 फरवरी 2017 - लखीसराय जिले के कजरा थाना इलाके के चंपानगर गांव के उपमुखिया पति सुनील यादव की नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के आरोप में हत्या कर दी। सुनील यादव को घर से जबरन खींच कर हत्या की गयी थी।