स्टेशन से पकड़ा गया 14 लाख का गुटखा

मुंबई : प्रतिबंध के बावजूद मुंबई में तंबाकू और गुटखा खुलेआम बिक रहा है। सड़क और रेलवे से गुटखा सप्लाइ का सिलसिला थम नहीं रहा है। बुधवार को पश्चिम रेलवे के मुंबई डिविजन द्वारा की गई कार्रवाई में करीब 14 लाख रुपये का गुटखा पकड़ा गया है। 

मुंबई से सबसे ज्यादा गुटखा की अवैध सप्लाई गुजरात से होती है। बुधवार को भी ट्रेन क्रमांक 12902 गुजरात एक्सप्रेस से गुटखा मुंबई सेंट्रल पहुंचा। मुंबई मंडल के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त एस.आर.गांधी ने बताया कि सूत्रों के द्वारा सूचना मिलने पर कार्रवाई की गई है। इसके लिए एएससी क्षितिज गुरव की निगरानी में एक टीम का गठन किया गया था। हर एक ट्रेन की तलाशी ली जा रही थी। 

आमतौर इन ट्रेनों में प्राइवेट पार्टी लीज लेकर पार्सल का काम करती हैं। यह पार्टियां बल्क में पूरा माल बुक करती हैं। बुधवार को जब गाड़ी पहुंची, तो एक 500 किलो का पार्सल अलग से रखा हुआ था। संशय होने पर जब जांच की गई, तो इसमें से अगल-अलग कंपनियों का प्रतिबंधित गुटखा निकला। आरपीएफ द्वारा पार्सल जीआरपी को सुपुर्द कर दिया गया है। इस मामले में गुरुवार को फूड सेफ्टी ऐंड स्टैंडर्ड ऐक्ट 2006 की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

कुछ साल पहले जीआरपी द्वारा मुंबई में रेल मार्ग से हो रही गुटखा सप्लाइ को लगभग बंद कर दिया गया था। महीने में करीब 15 दिन गुटखे की बड़ी खेप पकड़ी जाती थी। गुजरात के अलावा मध्य रेलवे के कुर्ला स्टेशन पर भी बड़ी मात्रा में गुटखा आता था। सूत्रों का कहना है कि थोक विक्रेता इसे नल बाजार ले जाते हैं और वहां से शहरभर में सप्लाई होती है। गुटखा सप्लाइ की इस चेन में लीज पार्सल करने वाली कंपनी, स्टेशन पर पार्सल की जांच करने वाला स्टाफ और थोक बाजार के स्थानीय शहरी पुलिस स्टेशन में सभी की सांठगांठ होती है।