मुख्यमंत्री एक अगस्त से महाजनादेश यात्रा पर

मुंबई : राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस आगामी एक अगस्त को प्रदेश व्यापी महाजनादेश यात्रा की शुरुआत करेंगे। 31 अगस्त को इस यात्रा के समापन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  को आमंत्रित करने के प्रयास जारी हैं। यहां भाजपा कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने मुख्यमंत्री की महाजनादेश यात्रा की जानकारी देते  हुए कहा कि राज्य सरकार के पांच साल के कार्यों का हिसाब आम जनता को देने के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस महाजनादेश यात्रा पर निकलेंगे। राष्ट्र संत तुकडोजी महाराज के  जन्मस्थान अमरावती जिले के मोजरी से एक अगस्त से यह यात्रा शुरु होगी। इसका समापन 31 अगस्त को नाशिक में होगा। दो चरणों में निकलेगी यात्रा पाटिल ने कहा कि यह  महाजनादेश यात्रा दो चरणों में निकाली जाएगी। पहले चरण में एक से नौ अगस्त के बीच विदर्भ और उत्तर महाराष्ट्र में यात्रा निकलेंगी। यात्रा कुल 14 जिलों से होकर गुजरेगी और  55 विधानसभा क्षेत्र और 1639 किलोमीटर का सफर पूरा करेगी। पहले चरण की यात्रा का समापन नंदूरबार में होगा। यात्रा का दूसरा चरण 17 अगस्त से शुरु होगा। दूसरे चरण में   महाजनादेश यात्रा 18 जिलों के 93 विधानसभा क्षेत्रों से गुजरते हुए कुल 2745 किलोमीटर का सफर तय करेगी। दोनों चरणों में यह यात्रा 32 जिले से होकर गुजरेगी और कुल 4384 किलोमीटर का सफर पूरा करेगी। दोनों चरणों को मिलाकर कुल 150 विधानसभा क्षेत्रों से यात्रा गुजरेगी। पाटिल ने कहा कि इस दौरान 87 बड़ी सभाएं, 57 स्वागत सभाएं होंगी। इसके  अलावा कुल 238 से अधिक गांवों में स्वागत स्वीकारते हुए यह नाशिक पहुंचेगी। यात्रा के प्रमुख प्रदेश महासचिव सुजीत सिंह ठाकुर हैं। यात्रा के उद्घाटन और समापन अवसर पर  भाजपा के सभी मंत्री उपस्थित रहेंगे। फड़नवीस सरकार के पिछले पांच साल के कामकाज को दिखाने वाला एईडी रथ इस यात्रा के साथ-साथ चलेगा। यात्रा के दौरान होने वाले  कार्यक्रमों का सीधा प्रसारण किया जाएगा। जिन स्थानों से यात्रा निकलेगी, उस जिले के मंत्री, जन प्रतिनिधि और पार्टी के सभी पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। सीएम पद का फैसला   अमित शाह, फड़नवीस करेंगे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि महाजनादेश यात्रा के समापन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुलाने के प्रयास किए जा रहे हैं। शिवसेना के  मंत्रियों के यात्रा में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस पर विचार किया जाएगा। 

सीएम पद को लेकर पूछे गए सवाल पर पाटिल ने कहा कि अगला सीएम कौन होगा? यह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और देवेंद्र फड़नवीस तय करेंगे। मुझे जो काम दिया   गया हैं, मैं वहीं करुंगा। युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे को शिवसेना की तरफ से आदित्य ठाकरे को सीएम पद का प्रत्याशी बनाए जाने के सवाल को टालते हुए पाटिल ने कहा कि  उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है। मराठा मोर्चा के चुनाव लड़ने उन्होंने कहा कि देश स्वतंत्र है, कोई भी चुनाव लड़ सकता है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आदित्य ठाकरे की  जनआशीर्वाद यात्रा और सीएम की महाजनादेश यात्रा का मार्ग अलग-अलग हैं, ऐसे में दोनों यात्राएं आपस में नहीं टकराएगी।