चौथी मंजिल से दुधमुंहे बच्चे को फेंका: जब हत्यारोपी मां अपनी ही कहानी में उलझी

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में स्थित ट्रॉमा की चौथी मंजिल से दुधमुंहे बच्चे को फेंककर मार डालने वाली मां शांति पूछताछ में अपनी बनाई कहानी में ही उलझ गई। आखिर में उसने बच्चे को फेंकने की बात कबूल ली। मंगलवार को सुबह करीब साढ़े पांच बजे शांति बाथरूम से बाहर निकली और बच्चे के गुम हो जाने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। उस वक्त शांति का पति राजन व देवर अमरनाथ लिफ्ट के पास सो रहे थे। शांति की चीख-पुकार सुनकर वह लोग भागकर वॉर्ड में पहुंचे। मासूम के गुम हो जाने की बात सुनकर दोनों के होश उड़ गए। राजन व अमरनाथ ने वॉर्ड के कर्मचारियों और डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगाते हुए बवाल शुरू कर दिया। उधर, बच्चा चोरी की सूचना पर केजीएमयू में हड़कम्प मच गया। .

सीसीटीवी फुटेज से खुला राज : शांति की करतूत से अनजान पति राजन व देवर अमरनाथ ने सीसी कैमरों की फुटेज चेक करने का दबाव बनाया। डॉक्टरों ने फुटेज देखी तो उसमें शांति अपने बच्चे को एनआईसीयू से बाहर ले जाते हुए दिखी, इसके बाद जब वह वॉर्ड में लौटी तो उसकी गोद में बच्चा नहीं था। यह देख अधिकारियों को यकीन हो गया कि बच्चे के साथ जो कुछ भी हुआ है, वह शांति ने ही किया है। इसके बाद अधिकारियों ने शांति से पूछताछ शुरू की तो वह सच सामने आ गया। इंस्पेक्टर चौक पंकज कुमार सिंह ने बताया कि शांति को गिरफ्तार कर लिया गया है।.

लोहिया अस्पताल के मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. देवाशीष शुक्ला का कहना है कि तनाव के कई कारण हो सकते हैं। आर्थिक तंगी व हालात भी इस तरह की घटना के लिए कम जिम्मेदार नहीं है। वह बताते हैं कि बार-बार गर्भपात से भी महिलाएं तनाव की जद में आ जाती हैं। .