परिपक्व राजनीतिक व्यक्तित्व खो दियाः मुख्यमंत्री

मुंबई : दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर शोक प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उनके निधन से हमने कुशल सहृदयी और परिपक्व राजनीतिक व्यक्तित्व को खो दिया है। शीलाजी लगातार तीन बार मुख्यमंत्री रहीं और दिल्ली का चेहरा बदलने के उनके परिश्रम की वजह से उन्हें जनता के मन में विशेष स्थान मिला। उनकी पहचान कुशल संगठक और अच्छे प्रशासक के रूप में थी। संयुक्त राष्ट्र संघ में महिला संबंधी आयोग में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए उन्होंने महिलाओं की समस्याओं को विश्व के समक्ष प्रखरता से रखा।
सक्षम प्रशासक थी शीला जी: शरद पवार
राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने शीला दीक्षित के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनके निधन से एक वरिष्ठ नेता और समक्ष प्रशासक हमारे बीच नहीं रहा। यह खबर सुनकर बेहद दुःख हुआ। देश की राजधानी में मुख्यमंत्री के रूप में किए गए कार्यों को हमेशा याद रखा जाएगा। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोरात ने कहा कि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन की वजह से कांग्रेस ने एक बेहद अनुभवी, निष्ठावान तथा सुसंस्कृत नेतृत्व खो दिया। वे पूरी जिंदगी कांग्रेस की विचारधारा से एकनिष्ठ रहीं। पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि शीला दीक्षित के निधन से एक दूरदर्शी नेतृत्व हमारे बीच नहीं रहा।