कम बारिश के चलते सरकार ने मराठवाड़ा में कृत्रिम बारिश कराने का लिया निर्णय

कम बारिश के चलते सरकार ने मराठवाड़ा में कृत्रिम बारिश कराने का निर्णय लिया है। राज्य के जल आपूर्ति मंत्री बबनराव लोणीकर ने कहा कि आगामी 30 जुलाई तक मराठवाड़ा  में कृत्रिम बारिश कराई जाएगी। लोणीकर ने कहा कि मराठवाड़ा में कम बारिश होने से नागरिकों की चिंता बढ़ी है। ऐसे में कृत्रिम बारिश कराने को लेकर राज्य मंत्रिमंडल में चर्चा  हुई। राज्य सरकार ने कृत्रिम बारिश को लेकर लगने वाली सभी अनुमति के लिए केंद्र सरकार से आवेदन किया है । यह अनुमति जल्द ही मिलने की संभावना है । कृत्रिम बारिश  कराने के लिए औरंगाबाद एयरपोर्ट से उड़ान की अनुमति लेनी होगी। साथ ही रडार उपयोग की अनुमति भी आवश्यक होगी।

मंत्री ने कहा कि आमतौर पर कृत्रिम बारिश कराने के लिए सभी तरह की अनुमति राज्य सरकार को मिलती है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने   कृत्रिम बारिश कराने के लिए 30 करोड़ रुपए की रकम उपलब्ध कराई है। ऐसे में जल्द ही मराठवाड़ा में जल्द ही कृत्रिम बारिश कराई जाएगी। मराठवाड़ा में इस साल भी बारिश कम  हुई है। अभी तक वहां 122 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। इतनी कम बारिश होने से मराठवाड़ा में कृत्रिम बारिश की जरूरत महसूस की जा रही है। राज्य में वर्ष 2003 में पहली बार कृत्रिम बारिश कराने का प्रयोग किया गया था। इसके बाद वर्ष 2015 में भी कृत्रिम बारिश कराने की कोशिश हुई थी।