रविंद्र चव्हाण बने पालघर के पालक मंत्री

मुंबई : मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने शुक्रवार को आठ जिलों के पालक मंत्रियों की नियुक्ति की। इसमें रविंद्र चव्हाण को पालघर जिले का पालक मंत्री बनाया गया है। पालक मंत्रियों की  नियुक्ति के आदेश सामान्य प्रशासन विभाग ने शुक्रवार को जारी किए। सुधीर मुनगंटीवार को वर्धा के बजाय गडचिरोली जिले का पालक मंत्री बनाया गया है। इसके पहले राजे  अंबरीश अत्राम गडचिरोली के पालक मंत्री थे। अत्राम को कैबिनेट विस्तार में जगह नहीं मिली थी। वर्धा के पालक मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले बनाए गए हैं। सार्वजनिक लोक निर्माण  राज्यमंत्री और मुख्यमंत्री के करीबी डॉ परिणय फुके को गोंदिया और भंडारा जिले का पालक मंत्री बनाया गया है। कृषि मंत्री डॉ अनिल बोंडे को अमरावती का पालक मंत्री नियुक्त  किया गया है। पहले इस पद की जवाबदारी राज्यमंत्री प्रवीण पोटे पाटिल के पास थी। मेडिकल शिक्षा राज्यमंत्री रविंद्र चव्हाण को पालघर का पालक मंत्री बनाया गया है। पहले इस  पद पर विष्णु सांवरा काबिज थे। राज्यमंत्री चव्हाण ने पालघर में पिछले दो लोकसभा चुनाव की जिम्मेदारी सफलतापूर्वक निभाई थी। 

विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए उन्हें पालघर की जिम्मेदारी दी गई है। उद्योग, वक्फ सहित अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री अतुल सावे को हिंगोली का पालक मंत्री नियुक्त  किया गया है। पहले हिंगोली के पालक मंत्री दिलीप कांबले थे। कामगार मंत्री डॉ संजय कुटे को बुलढाणा जिले की जिम्मेदारी सौंपी गई है।