पहले पूरे परिवार के खाने में मिलाई नींद की गोलियां, फिर प्रेमी संग मिलकर की ये करतूत

प्रेम प्रसंग में बाधा बनने पर बेटी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिल कर पिता की हत्या कर दी। पिता सहित पूरे परिवार को नींद की गोली मिलाकर पहले सब्जी खिलाई और फिर रात में घर के बाहर सो रहे पिता की प्रेमी के साथ मिल कर हत्या कर शव को घर के बगल में गली में फेक दिया था। मामले की जांच के दौरान बेटी की करतूत उजागर हो गई। इस पर पुलिस ने मंगलवार को सुबह 17 वर्षीया किशोरी के साथ उसके प्रेमी को भी गिरफ्तार कर लिया। 

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में पवई थाने के सौदमा गांव निवासी 50 वर्षीय श्यामनरायण मिश्रा पुत्र स्व.पारसनाथ मिश्रा 27 जून की रात में घर के बाहर सो रहे थे। इस दौरान धारदार हथियार से वार कर उनकी हत्या कर शव को घर के बगल में ही दो फुट की गली में फेक दिया गया था। शव पर घास-पूस रख दिया गया था। शव मिलने पर मृतक की पत्नी सुमन की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया। शक होने पर पुलिस ने परिवार में जांच पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस ने मृतक की बेटी और उसकी मां सहित परिवार और पड़ोस के लोगों से पूछताछ की। आखिरकार पूछताछ के बाद बेटी ने अपने ही पिता की हत्या में प्रेमी के साथ हाथ होने की बात स्वीकार की। एसपी यातायात मो.तारिक ने बताया कि हत्या के आरोप में मृतक की बेटी और पड़ोस के प्रेमी छोटू उर्फ अक्षय कुमार पुत्र उदयराज मिश्रा को मंगलवार को सुबह घर से गिरफ्तार कर लिया गया।  पवई थाने के सौदमा गांव निवासी अक्षय कुमार अपनी प्रेमिका के पिता की हत्या करने के लिए घटना के दिन सुबह घर से अपनी बहन को लुधियाना पहुंचाने की बात कह कर निकला था। मगर बहन को ट्रेन पर बैठा कर रात में ही वापस आ गया था और हत्या करने के बाद पुन: लुधियाना चला गया था। 

पवई थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि सौदमा गांव निवासी श्यामनरायन मिश्रा की हत्या के आरोप में गिरफ्तारी बेटी और उसके प्रेमी अक्षय कुमार का घर अगल-बगल में ही है। पूछताछ में प्रेमी अक्षय कुमार ने खुलासा किया कि हम दोनों तीन साल से आपस में प्रेम कर रहे थे। घटना के दो दिन पूर्व प्रेमिका को उसके साथ आपत्तिजनक स्थिति में उसके पिता ने देख लिया था। इस पर मृतक श्यामनरायन ने अपनी बेटी को मारा-पीटा था और मिलने-जुलने पर रोक लगा दिया था। ऐसे में हम दोनों ने रास्ते से श्यामनरायन को हटाने के लिए हत्या की साजिश रची। घटना के दिन सुबह अक्षय कुमार अपनी बहन को लुधियाना पहुंचाने के लिए घर से निकला था। मगर अंबेडकर नगर जिले के मालीपुर स्टेशन पर बहन को ट्रेन पर बैठा कर रात में प्रेमिका के घर चला गया था। प्रेमिका को पहले से ही पूरे परिवार को सब्जी में मिला कर नींद की गोली खिलाने के लिए दिया था। रात में पहुंचने पर योजना के तहत अक्षय ने हैंडपंप चलाई। आहट लगते ही उसकी प्रेमिका घर के अंदर से फावड़ा और खुर्पी लेकर आई। घर के बाहर सो रहे श्यामनरायन पर बेटी ने अपने प्रेमी के साथ  वार कर मार डाला और शव को गली में ले जाकर रख दिया था। फिर अक्षय कुमार लुधियाना के लिए चला गया था। पवई थानाध्यक्ष ने बताया कि प्रेमिका के गिरफ्तार होने पर पुलिस का दबाव बढ़ते ही प्रेमी अक्षय कुमार भी सोमवार की रात में लुधियाना से घर आया और मंगलवार को सुबह उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया । हत्या में प्रयुक्त फावड़ा और खुर्पी बगल में एक मड़ई से बरामद किया गया।